यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
सोमवार, 07 दिसम्बर 2015 15:41

वरिष्ठ नेता का पत्र, अति महत्वपूर्ण

वरिष्ठ नेता का पत्र, अति महत्वपूर्ण

संसद सभापति लारीजानी ने वरिष्ठ नेता के पत्र को अति महत्वपूर्ण बताया है।

डा. लारीजानी ने कहा कि पश्चिमी युवाओं के नाम इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता का संदेश, पश्चिम तथा इस्लामी जगत के बीच सहयोग का उचित अवसर है। उन्होंने रविवार को संसद में कहा कि वरिष्ठ नेता काे इस पत्र ने द्वेष के उस पर्दे को हटा दिया जो बड़ी शक्तियों की विस्तारवादी भावना में निहित था। इस प्रकार बहुत सी वास्तविकताएं स्पष्ट हुईं जो अब तक स्पष्ट नहीं थीं।


संसद सभापति ने स्पष्ट किया कि इस्लामी जगत ने सदैव ही हिंसा का मुक़ाबला किया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में सिर उठाने वाला आतंकवाद, क्षेत्रीय तानाशाहों और पश्चिमी शक्तियों की गुप्तचर सेवाओं की देन है। ईरान के संसद सभापति ने कहा कि आतंकवाद से मुक़ाबले के लिए उस प्रकार के सैन्य अभियान की आवश्यकता नहीं है जिसे हम इस समय देख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वे अपने विशेष उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए क्षेत्र में आए हैं। अली लारीजानी ने इराक़ में तुर्की के सैन्य हस्तक्षेप को उस षडयंत्र का भाग बताया जिसके अन्तर्गत क्षेत्र में मौजूद आतंकवाद को एक नया आयाम दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान, क्षेत्र में शांति का इच्छुक है और वह आतंकवाद के विरुद्ध संघर्ष के लिए क्षेत्रीय देशों से निष्ठापूर्ण सहयोग पर बल देता है।

ईरान के संसद सभापति ने आशा व्यक्त की है कि आईएईए के महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर निदेशक मंडल, ईरान की शांति पूर्ण परमाणु गतिविधियों के बारे में बनाई गई झूठी फाइल को समाप्त करते हुए परमाणु समझौते

Add comment


Security code
Refresh