यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
बुधवार, 02 दिसम्बर 2015 18:37

वरिष्ठ नेता के पत्र पर पश्चिमी एवं अरब मीडिया की प्रतिक्रयाएं

वरिष्ठ नेता के पत्र पर पश्चिमी एवं अरब मीडिया की प्रतिक्रयाएं

फ़्रांस प्रेस ने पश्चिमी युवाओं के नाम इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता के दूसरे पत्र के संबंध में लिखा है कि इस पत्र में ईरान के वरिष्ठ नेता ने पश्चिम के दोहरे मापदंडों की आलोचना की है।


फ़्रांस प्रेस ने पश्चिमी युवाओं के नाम वरिष्ठ नेता के पत्र के चर्चा करते हुए लिखा कि ईरान के वरिष्ठ नेता ने अंग्रेज़ी और फ़्रैंच भाषाओं में प्रकाशित होने वाले इस पत्र में हालिया आतंकवादी घटनाओं की ओर संकेत करते हुए कहा है कि जिस किसी में भी थोड़ी सी मानवता होगी, वह इस प्रकार के दृश्यों से प्रभावित और दुखी होगा, यह घटनाएं फ़्रांस में घटी हों या फ़िलिस्तीन, इराक़, लेबनान और सीरिया में।

इस रिपोर्ट के मुताबिक़, ईरान के वरिष्ठ नेता ने अलक़ायदा, तालिबान और अन्य आतकंवादी गुटों को सशस्त्र करने और उनके समर्थन के लिए अमरीका की विरोधाभासी नीतियों की निंदा करते हुए कहा कि आतंकवाद आज हमारी संयुक्त समस्या है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने अपने पत्र में पश्चिमी युवाओं को संबोधित करते हुए कहा है कि मुस्लिम देशों पर हालिया सैन्य हमले, कि जिनमें बड़ी संख्या में लोग प्रभावित हुए हैं, पश्चिम की विरोधाभासी नीतियों का एक अन्य उदाहरण है।

अमरीकी वेबसाइट अमेरिकन हेराल्ड ट्रिब्यून ने भी इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनई के पत्र में पश्चिम और अंतरराष्ट्रीय संगठनों द्वारा आतंकवाद के प्रति दोहरे मापदंड का विशेष रूप से उल्लेख किया है।

अमेरिकन हेराल्ड ट्रिब्यून ने लिखा है कि ईरान के वरिष्ठ नेता ने पेरिस समेत विश्व भर में हालिया आतकंवादी हमलों पर दुख प्रकट करते हुए फ़िलिस्तीनी जनता पर ज़ायोनी शासन के अत्याचारों की भी निंदा की है।

 

यह भी पढ़ेंः वरिष्ठ नेता के पत्र का मूल उद्देश्य, दाइशी इस्लाम और वास्तविक इस्लाम के बीच अंतर करना है



आज़रबाइजान की न्यूज़ एजेंसी ट्रैंड ने भी पश्चिमी युवाओं के नाम इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता के पत्र में आतंकवाद के प्रति पश्चिम को दोहरे मापदंड की आलोचना को प्रमुखता से प्रकाशित किया है।

लेबनान की वेबसाइट अल-अहद ने भी वरिष्ठ नेता के पत्र के कुछ भागों को प्रकाशित करते हुए लिखा है कि अगर ख़तरनाक मुद्दों का कोई समाधान नहीं निकाला जाता है, निश्चित रूप से उससे पहुंचने वाला नुक़सान दोगुना हो जाता है।

इसके अलावा अलमयादीन एवं अलमनार समेत अन्य पश्चिमी एवं अरब संचार माध्यमों ने भी वरिष्ठ नेता के पत्र की चर्चा करते हुए पत्र में उठाए गए महत्वपूर्ण मुद्दों की समीक्षाएं पेश की हैं। msm

Add comment


Security code
Refresh