इक्कीस रमज़ान की भोर का समय, न्याय की स्थाप्ना तथा अत्याचार को मिटाने के लिये अपने तन, मन, धन को दांव पर लगाने वाले मानव इतिहास के महापुरूष एवं सूरमा …
रविवार, 28 जुलाई 2013 14:45

पवित्र रमज़ान-19

आज रमज़ान की १९ तारीख़ है।  वही तारीख़ जब वर्ष ४० हिजरी क़मरी में सुबह की नमाज़ पढ़ते समय ईश्वर के महान साहसी एवं न्यायी दास के सिर पर मानव …
इक्कीस रमज़ान की भोर का समय, न्याय की स्थाप्ना तथा अत्याचार को मिटाने के लिये अपने तन, मन, धन को दांव पर लगाने वाले मानव इतिहास के महापुरूष एवं सूरमा …
बुधवार, 24 जुलाई 2013 18:39

शबे क़द्र-1

रमज़ान के पवित्र महीने में यह ऐसा समय है जब दयालु व तत्वदर्शी ईश्वर की दया व कृपा ने हर समय से अधिक उसके बंदों को अपना पात्र बना रखा …
पवित्र रमज़ान की पन्द्रह तारीख़ आरम्भ हो रही थी, तीसरा हिजरी क़मरी वर्ष था, जब पैगम्बरे इस्लाम(स) की सुपुत्री हज़रत फ़ातेमा ज़हरा(स) ने प्रकाशमयी अस्तित्व वाले एक सुंदर पुत्र को …
इस्लाम का इतिहास ऐसे पुरुषों एवं महिलाओं के नामों से सुसज्जित है जिन्होंने इस महान धर्म की सुरक्षा के लिए अपनी अंतिम श्वासों तक त्याग व बलिदान के अनोखे उदाहरण …
न्याय की वसंतु ऋतु आ गयी है सामर्रा नगर का पूरा वातावरण १५ शाबान की महाखुशी से ओत- प्रोत है। १५ शाबान वह दिन है जब पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि …
  इमाम ख़ुमैनी का मानना था कि महिला समाज में किनारे पर नहीं होती बल्कि वह समाज का केन्द्र है। इस बात में संदेह नहीं है कि महिला भी पुरूष …
शाबान का पवित्र महीना वह महीना है जो इस्लामी इतिहास की महान हस्तियों के जन्म दिनों से सुशोभित है। आज ही के दिन अर्थात शाबान महीने की पांच तारीख को …
बृहस्पतिवार, 13 जून 2013 19:47

हज़रत अब्बास

चार शाबान एसे महान व्यक्ति का शुभ जन्म दिवस है जिसका नाम इतिहास में निष्ठा और त्याग का पर्याय बन चुका है।  शाबान महीने की चार तारीख़ को हज़रत अली …
बृहस्पतिवार, 13 जून 2013 19:46

इमाम हुसैन

तीन शाबान महान हस्ती के शुभ जन्म दिवस की वर्षगांठ है। इसी  दिन चार हिजरी क़मरी को हज़रत अली अलैहिस्सलाम और हज़रत फ़ातेमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा के घर में दूसरे …
      इस्लामी क्रांति के महान नेता और इस्लामी गणतंत्र ईरान के संस्थापक इमाम खुमैनी की २४वीं बरसी पर वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के अति महत्वपूर्ण …
बृहस्पतिवार, 06 जून 2013 17:37

हज़रत अली अलैहिस्सलाम

हम इस बात के लिए प्रसन्न और ईश्वर के कृतज्ञ हैं कि इस दिन काबे की दीवार में दरार पड़ी और न्याय में निखार आया।  सृष्टि ने पुनः बसंत का …
बृहस्पतिवार, 06 जून 2013 17:33

१५ ख़ुरदाद ऐतिहासिक मोड़

१५ ख़ुरदाद बराबर ४ जून १९६३ की घटना, वास्तव में वर्चस्ववादी व्यवस्था के विरुद्ध ईरानी जनता के महाआन्दोलन का निर्णायक मोड़ समझी जाती है।  हम इस विषय पर चर्चा करेंगे …
चौदह खुरदाद वर्ष 1368 हिजरी शम्सी अर्थात चार जून वर्ष 1989 ईसवी को विश्व एक ऐसे महापुरूष से हाथ धो बैठा जिसने अपने चरित्र, व्यवहार, अदम्य साहस, समझबूझ और ईश्वर …
ईश्वरीय धर्म इस्लाम के संदेशों को लोगों तक पहुंचाना पैग़म्बरे इस्लाम और उनके पवित्र परिजनों की एक विशेषता रही है। उनमें से सबने अपने समय में लोगों का मार्गदर्शन करने …
चौदह खुरदाद वर्ष 1368 हिजरी शम्सी अर्थात चार जून वर्ष 1989 ईसवी को विश्व एक ऐसे महापुरूष से हाथ धो बैठा जिसने अपने चरित्र, व्यवहार, अदम्य साहस, समझबूझ और ईश्वर …
बृहस्पतिवार, 23 मई 2013 18:13

हज़रत अली अलैहिस्सलाम

      हम इस बात के लिए प्रसन्न और ईश्वर के कृतज्ञ हैं कि इस दिन काबे की दीवार में दरार पड़ी और न्याय में निखार आया।  सृष्टि ने …
पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैहे वआलेही वसल्लम के परिजनों में से प्रत्येक अपने काल में ज्ञान और परिपूर्णता की दृष्टि से अद्वितीय था।  वे लोग अपने काल के …
بسم اللہ الرحمن الرحیم الحمد للہ رب العالمین و الصلاۃ و السلام علی سیدنا محمد المصطفی و آلہ الاطیبین و صحبہ المنتجبین و من تبعھم باحسان الی یوم الدین आप …