सोमवार, 28 जुलाई 2014 14:51

ईदे फित्र

                    शव्वाल महीने की सुबह हो चुकी है चारों ओर खुशी और ईद का वातावरण है। मोमिन व्यक्तियों के दिलों में खुशी …
बुधवार, 16 जुलाई 2014 16:00

इमाम अली की शहादत

21 रमज़ान सन 40 हिजरी क़मरी को हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने इस नश्वर संसार पर अन्तिम बार दृष्टि डाली।  उन्होंने अपने परिजनों को इकट्ठा करके वसीयत की और शांत हृदय …
आज ही के दिन तीन हिजरी क़मरी को हज़रत फ़ातेमा ज़हरा व हज़रत अली अलैहस्सलाम के घर में एक सूर्य का उदय हुआ। जी हां यह बच्चा विश्व में दानशीलता …
आज पवित्र रमज़ान महीने की १० तारीख है। आज के दिन इतिहास में एक कटु घटना घटी थी। वह कुट घटना यह है कि आज के दिन पैग़म्बरे इस्लाम की …
15 शाबान 255 हिजरी क़मरी की सुबह इमाम हसन असकरी (अ) के घर में एक पवित्र बच्चे ने जन्म हुआ। यह बच्चा पैग़म्बरे इस्लाम (स) का उत्तराधिकारी और मानवता का …
इस्लाम धर्म, स्वर्गीय इमाम ख़ुमैनी द्वारा अस्तित्व में लाई गई उस क्रांति का आधार था जो ईरानी जनता के अभूतपूर्व समर्थन से सफल हुई। ईरान की इस्लामी क्रांति, अत्याचार से …
आज शाबान की पांच तारीख है। ३८ हिजरी कमरी में शाबान महीने की पांच तारीख को ही पवित्र नगर मदीना में इमाम अली बिन हुसैन अर्थात हुसैन के बेटे अली …
तीसरी हिजरी कमरी वर्ष के शाबान महीने की तीन तारीख थी। इसी दिन हज़रत अली अलैहिस्सलाम के घर में प्रकाश के चांद हज़रत इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम का जन्म हुआ। अस्मा …
बेअसते पैग़म्बरे अर्थात पैग़म्बरे इस्लाम सलल्लाहो अलैह व आलेही व सल्लम की पैग़म्बरी की आधिकारिक घोषणा का दिन है। इस दिन ईश्वर ने अपनी कृपा व दया के अथाह सागर …
ईरान कई हज़ार वर्ष पुरानी सभ्यता का स्वामी देश है और उसने इन वर्षों में बहुत उतार- चढ़ाव देखे हैं। ११ फरवरी वर्ष १९७९ में इस्लामी क्रांति की सफलता ईरानी …
पैग़म्बरे इस्लाम के पवित्र परिजनों में से हर मार्गदर्शक मासूमअर्थात पापों से पवित्र है और वे वास्तव मैं नैतिकता व मानवता के सच्चे शिक्षक एवं अच्छाइयों के स्रोत हैं । …
ईरान कई हज़ार वर्ष पुरानी सभ्यता का स्वामी देश है और उसने इन वर्षों में बहुत उतार- चढ़ाव देखे हैं। ११ फरवरी वर्ष १९७९ में इस्लामी क्रांति की सफलता ईरानी …
पंद्रह रजब, पैग़म्बरे इसलाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम की नवासी और हज़रत अली व फ़ातेमा अलैहिमस्सलाम की सुपुत्री हज़रत ज़ैनब सलामुल्लाह अलैहा के स्वर्गवास की तारीख़ …
आज तेरह रजब है। सलाम हो उस जन्म लेने वाले पर कि जिसके लिए ईश्वर ने अपने घर को जन्म स्थली बनाया और अपने सर्वश्रेष्ठ दूत पैग़म्बरे इस्लाम को उसका …
हिजरी क़मरी कैलेंडर के सातवें महीने रजब को उपासना और अराधना का महीना कहा जाता है जबकि इस पवित्र महीने के कुछ दिन पैग़म्बरे इस्लाम के परिजनों में कुछ महान …
इस्लामी इतिहास में ऐसी महान हस्तियां गुज़री हैं जिन्होंने ईश्वरीय शिक्षाओं के प्रचार व प्रसार और इंसानों को भलाई एवं पुण्य का रास्ता दिखाने के लिए भरपूर प्रयास किए। पैग़म्बरे …
बुधवार, 30 अप्रैल 2014 16:17

मुर्तज़ा मुतह्हरी

मानव इतिहास के विभिन्न चरणों में विभिन्न क्षेत्रों में दक्ष बुद्धिजीवी सामने आये जिन्होंने अन्य लोगों के कल्याण की मशाल प्रज्वलित की। लोगों के सबसे बड़े मार्गदर्शक ईश्वरीय दूत, पैग़म्बरे …
   पहली रजब 57 हिजरी कमरी को पवित्र नगर मदीना के शांतपूर्ण वातावरण में इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम के घर में इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम का जन्म हुआ। इमाम मोहम्मद …
रविवार, 20 अप्रैल 2014 15:53

सर्वश्रेष्ठ आदर्श

आज के दिन धरती की गोद एक एसी हस्ती के अस्तित्व से भर गई जिसकी उपाधि ईश्वर ने कौसर रखी। एकेश्वरवाद के प्रचारक पैग़म्बरे इस्लाम की छत्रछाया में इस महान …
पैग़म्बरे इस्लाम सललल्लाहो अलैह व आलेही व सल्लम के पवित्र परिजनों में सबसे कम आयु हज़रत फ़ातेमा ज़हरा को मिली। वे एक कथन के अनुसार पैग़म्बरे इस्लाम के स्वर्गवास के …
Page 1 of 12