बुधवार, 18 मार्च 2015 17:01

तेल का राष्ट्रीयकरण

२९ इस्फन्द १३२९ हिजरी शमसी अर्थात २० मार्च १९५० को साम्राज्यवादी शक्तियों से ईरानी राष्ट्र के मुकाबले का एक महत्वपूर्ण दिन है। इस दिन को ईरानी राष्ट्र के इतिहास में …
    सन 5 हिजरी क़मरी को ईश्वर ने हज़रत अली और हज़रत फ़ातेमा को एक सुपुत्री प्रदान की। उन्होंने इस नवजात का नाम ज़ैनब रखा। हज़रत ज़ैनब का शुभ …
सोमवार, 09 फ़रवरी 2015 13:08

22 bahman

                                                     ३६ वर्ष पूर्व २२ …
36 साल पहले ईरान की जनता ने इन्हीं दिनों में इतिहास के सबसे मधुर और मनमोहक कालखंड का अनुभव किया। जनता अपनी क्रान्ति को सफलता की दहलीज़ पर पहुंचाने के …
  आठ रबीउस्सानी २३२ हिजरी क़मरी को इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम का पवित्र नगर मदीना में जन्म हुआ। चूंकि इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम को भी अपने पिता की भांति अब्बासी …
वर्षों का समय बीत रहा था जब संसार सूखी ज़मीन की भांति महान ईश्वर की असीम कृपा की वर्षा की प्रतीक्षा में था। ज़मीन ऊंच नीच, भेदभाव, जात- पात और …
  पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम के शुभ जन्म दिवस पर ईरान में एकता सप्ताह मनाया जाता है।   इस्लामी जगत में एकता का उद्देश्य यह …
  8 रबीउल अव्वल को हज़रत इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम का शहादत दिवस है। उन्होंने अपनी 28 साल की ज़िन्दगी में दुश्मनों की ओर से बहुत से दुख उठाए और …
सोमवार, 22 दिसम्बर 2014 13:00

इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की शहादत

  इमाम अली रज़ा अलैहिस्सलाम की बहुत उपाधियां हैं जिनमें सबसे प्रसिद्ध रज़ा है जिसका अर्थ है राज़ी व प्रसन्न रहने वाला। इस उपाधि का बहुत बड़ा कारण यह है …
  पैग़म्बरे इस्लाम (स) का स्वर्गवास हुए चौदह सौ वर्ष का समय बीत रहा है परंतु आज भी दिल उनकी याद व श्रृद्धा में डूबे हुए हैं। डेढ अरब से …
आशूर की हृदय विदारक घटना का चालीसवां दिन गुज़र रहा है। आशूर के दिन का ख़्याल आते ही ख़ून, अत्याचार के ख़िलाफ़ आंदोलन, भाले पर इतिहास लिखने वाले अमर बलिदानों …
प्रशिक्षण का अर्थ बड़ा करना है इस प्रकार से कि इंसान के भीतर नीहित योग्यताओं को परिपूर्णता तक पहुंचा दें। इस प्रकार शिक्षा व प्रशिक्षा इंसान को आध्यात्मिक परिपूर्णता तक …
  मुहर्रम महीने की 12 तारीख़, इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम का शहादत दिवस है।  उनका उपनाम सज्जाद है।  करबला की हृदय विदारक घटना के बाद इमाम सज्जाद को सन 61 …
९ मोहर्रम को कर्बला में घटने वाली घटनाओं  कर्बला का आंदोलन शताब्दियों से सत्य के खोजियों को तृप्त करने वाला निर्मल जलसोते ककी भांति रहा है। निःसंदेह इस आंदोलन में …
शनिवार, 01 नवम्बर 2014 16:08

अज़ादारी-4

                 आशूरा के महाआंदोलन से मिलने वाले पाठ प्रेरणा के स्रोत हैं। सन् ६१ हिजरी क़मरी में पैग़म्बरे इस्लाम के प्राणप्रिय नाती इमाम …
बुधवार, 29 अक्तूबर 2014 17:15

अज़ादारी-3

क्या आप महान व सर्वसमर्थ ईश्वर से प्रेम करने वाले व्यक्तियों को पहचानते हैं? ईश्वर से प्रेम करने वालों का हृदय उसके प्रेम में डूबा होता है। वे लोगों की …
रविवार, 26 अक्तूबर 2014 13:26

अज़ादारी-२

कर्बला की घटना इतिहास की सीमित घटनाओं में से एक है और इतिहास की दूसरी घटनाओं में इसका एक विशेष स्थान है। यद्यपि कर्बला की घटना सन् ६१ हिजरी क़मरी …
शनिवार, 25 अक्तूबर 2014 15:20

अज़ादारी

मोहर्रम का दुःखद महीना फिर आ गया। लोग मोहर्रम मनाने की तैयारी करने लगे हैं। मोहर्रम आने पर बहुत से लोग यह सोचने लगते हैं कि आखिर क्या वजह है …
बुधवार, 08 अक्तूबर 2014 15:15

ईदे ग़दीर

        धन्य है वह ईश्वर जिसने हमें असंख्य नेअमतें व अनुकंपायें प्रदान की हैं हमारा मार्गदर्शन किया है अगर हमारे पालनहार ने हमारा मार्गदर्शन न किया होता …
  हिजरी क़मरी वर्ष के बारहवें महीने ज़िलहिज्जा की 15 तारीख़ पैग़म्बरे इस्लाम के पौत्र इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम का जन्मदिन है। हम ईश्वर के आभारी हैं कि उसने हमें …
Page 1 of 13