पैग़म़्बरे इस्लाम के पौत्र और उनके उत्तराधिकारी हज़रत इमाम अली रज़ा अलैहिस्सलाम का शुभ जन्म दिवस है। यह वह महान हस्ती हैं जिन्होंने एक हज़ार साल से अधिक समय पहले …
पहली ज़ीक़ादा सन १७३ हिजरी क़मरी को हज़रत इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम की बेटी और हज़रत इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम की बहन का जन्म हुआ। हज़रत फ़ातेमा मासूमा का मज़ार ईरान …
आज मुसलमान इमाम जाफ़र सादिक़ (अ) की शहादत का शोक मना रहे हैं। ऐसी महान हस्ती जिसके अथक प्रयासों को पैग़म्बरे इस्लाम (स) के बाद इस्लामी इतिहास में महत्वपूर्ण माना …
पैग़म्बरे इस्लाम के पौत्र इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम अपनी एक दुआ में कहते हैं। प्रभुवर! मुहम्मद व उनके परिजनों पर सलाम भेज, इस महीने में हमारी कठिनाइयों की क्षतिपूर्ति कर, …
इस्लामी क्रान्ति के संस्थापक इमाम ख़ुमैनी ने पवित्र महीने रमज़ान के अंतिम जुमे को विश्व क़ुद्स दिवस घोषित किया जिसका एक उद्देश्य फ़िलिस्तीन की पीड़ित और शोषित जनता के समर्थन …
ईरान की इस्लामी क्रान्ति की एक बड़ी उपलब्धि फ़िलिस्तीन के मुद्दे का इस्लामी जगत के एजेंडे में प्राथमिकता प्राप्त मुद्दे में बदल जाना है। फ़िलिस्तीन पर ज़ायोनियों का क़ब्ज़ा हो …
रमज़ान महीने की आज २१ तारीख़ है। सन ४० हिजरी क़मरी में ६३ वर्ष की आयु में हज़रत अली अलैहिस्सलाम शहीद हुए।   सन चालिस हिजरी क़मरी में रमज़ान महीने …
रमज़ान का पवित्र महीना अपनी पूरी अनुकंपाओं व अध्यात्म के साथ जारी है। इस पवित्र महीने में रोज़ेदार अपने रोज़ेदार भाईयों और बहनों को इफ़्तार का निमंत्रण देते हैं और …
पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम द्वारा पैग़म्बरी की घोषणा के दसवें वर्ष रमज़ान महीने की १० तारीख़ और मक्का से मदीना पलायन से तीन वर्ष पहले हज़रत …
255 हिजरी कमरी में भोर के समय इराक के सामर्रा नगर में हज़रत इमाम मेहदी अलैहिस्सलाम का जन्म हुआ। हज़रत इमाम मेहदी अलैहिस्सलाम वही महान ईश्वरीय प्रतिनिधि हैं जो उसके …
ईश्वरीय दूतों और उनके उत्तराधिकारियों की ज़िन्दगी सत्य पर अमल और ईश्वरीय आदेश के पालन का साक्षात रूप है। इन महापुरुषों ने लोगों को ईश्वर के मार्ग पर बुलाने के …
आज एक ऐसे महान व्यक्ति की जन्म तिथि है जिसके नाम से इतिहास में बलिदान व वफ़ादारी रची बसी है और जिस की साहसपूर्ण जीवनी इतिहास के पन्नों पर जगमगा …
3 शाबान सन चार हिजरी क़मरी को मदीना शहर ईश्वरीय दूत पैग़म्बरे इस्लाम के परिवार में एक बच्चे के आगमन का मेज़बान था। ऐसा परिवार जिसे ततहीर नामक आयत उतरने …
पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि व आलेहि व सल्लम चालिस वर्ष के हो चुके थे।
आज पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि व आलेहिस्सलाम व सल्लम के एक पौत्र इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम की शहादत का दिन है। इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम २५ रजब १८३ हिजरी कमरी …
रजब का महीना था। ईमान से ओत- प्रोत हज़रत फातेमा बिन्ते असद भी दूसरे लोगों की भांति काबे की परिक्रमा कर रही थीं कि अचानक उन्होंने प्रसव पीड़ा का आभास …
आज रजब महीने की १० तारीख़ है। आज ही के दिन 195 हिजरी क़मरी में हज़रत इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम के सुपुत्र और भलाई व दान की प्रतिमूर्ति इमाम जवाद अलैहिस्सलाम …
हिजरी क़मरी वर्ष के रजब महीने के तीसरी तारीख़ आ गई है। यह तारीख़ पैग़म्बरे इस्लाम के पौत्र हज़रत इमाम अली नक़ी अलैहिस्सलाम की शहादत की तारीख़ है। इमाम अली …
        आज पवित्र नगर मदीना में इमाम सज्जाद अलैहिस्सलाम का घर प्रकाशवान है। पूरा मदीना नगर इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम के सुपुत्र इमाम मोहम्मद बाक़िर अलैहिस्सलाम के …
बसंत का मौसम है, चारों ओर हरियाली ही हरियाली है। आज २० जमादीस्सानी है आज वह दिन है जब पैग़म्बरे इस्लाम के घर में हज़रत फातेमा ज़हरा सलामुल्लाह अलैहा का …
Page 1 of 14