यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
शनिवार, 12 मार्च 2016 17:03

हज़रत फ़ातेमा(स) की शहादत

अभी मदीना नगर पैग़म्बर इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के स्वर्गवास के शोक से उबर नहीं पाया था। इस नगर में उनका ख़ाली स्थान देख कर …
आज हम इस्लाम की उस महान महिला का जन्म दिन मना रहे हैं जिसने इस्लामी इतिहास के निर्णायक चरण में ईश्वरीय धर्म की उमंगों का भरपूर ढंग से बचाव किया …
मंगलवार, 09 फ़रवरी 2016 13:37

इस्लामी क्रांति की सफलता

ईरान की इस्लामी क्रांति 11 फरवरी वर्ष 1979 में सफल हुई थी। इस क्रांति की सफलता क्षेत्र और विश्व में बहुत से परिवर्तनों का स्रोत बनी और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर …
आजकल ईरानी जनता की अच्छी यादों के दिन हैं। ईरानी जनता उस विजय व सफलता की खुशी मना रही है जिसमें उसने उस तानाशाही व अत्याचारी सरकार को खाली हाथों …
ईरान की इस्लामी क्रान्ति दुनिया की अन्य क्रान्तियों की तरह समान दिखने के साथ साथ अपनी अलग विशेषता रखती है। अगर इसकी मानकों की समीक्षा करें तो देश के भीतर …
आतंकवाद मानव समाज की एक आधारभूत समस्या बन गया है। इसी प्रकार आतंकवाद राष्ट्रों के अधिकारों के विरुद्ध एक विषम ख़तरा और विश्व की शांति व सुरक्षा के लिए गम्भीर …
                           ईरान की इस्लामी क्रांति एक व्यापक जनक्रांति थी। इसमें समाज के विभिन्न वर्गों के लोग शामिल व सक्रिय थे किन्तु दुनिया की दूसरी बड़ी क्रांतियों …
ईरान की इस्लामी क्रान्ति की 37वीं वर्षगांठ के दिन हैं। यह एसी क्रान्ति है जिसने सांस्कृतिक, सामाजिक और राजनैतिक क्षेत्रों सहित विभिन्न क्षेत्रों में आश्चर्यजनक बदलाव किया। इस्लामी क्रान्ति के …
20वीं शताब्दी विशेषकर उसके अंतिम पचास वर्षों में जो सामाजिक और राजनीतिक परिवर्तन हुए वे इस बात के सूचक हैं कि उस काल में कुछ देशों में विभिन्न क्रांतियां व  …
हर क्रांति में जब लोग अन्याय, अत्याचार और तानाशाही सरकारों से थक व ऊब जाते हैं तो उसके विरुद्ध उठ जाते हैं और संघर्ष के उतार- चढ़ाव के बाद अत्याचारी …
इन दिनों इस्लामी क्रांति की सफलता की 37वीं वर्षगांठ चल रही है। इस्लामी क्रांति ने अपने समय में बहुत से राजनैतिक समीकरणों को बदल दिया है। इस क्रांति ने पूरी …
ईरान में इमाम ख़ुमैनी रहमतुल्लाह अलैह के नेतृत्व में इस्लामी क्रान्ति की सफलता और मूल इस्लामी शिक्षाओं के आधार पर सरकार के गठन ने राजनीति की दुनिया में नए अध्याय …
ईरान की इस्लामी क्रांति की वर्षगाठ निकट है।  प्रतिवर्ष 11 फरवरी को इस्लामी क्रांति की वर्षगाठ मनाई जाती है।  ईरान में आने वाली इस्लामी क्रांति की तुलना, विगत की क्रांतियों …
232 हिजरी क़मरी में आज ही के दिन इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम का पवित्र नगर मदीना में जन्म हुआ। इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम की कुल आयु 28 वर्ष थी जिसका …
17 रबीउल अव्वल इतिहास में एक ऐसी तारीख़ के रूप में दर्ज है, जिसमें मानवीय इतिहास की दो ऐसी महान हस्तियों ने जन्म लिया, जिनका मानवता के मार्गदर्शन में अमूल्य …
शनिवार, 26 दिसम्बर 2015 12:07

एकता सप्ताह

सुन्नी मुसलमान 12 रबीउल अव्वल जबकि शीया मुसलमान 17 रबीउल अव्वल को पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम का जन्म दिवस मनाते हैं। वर्षों पहले …
आठ रबीउल अव्वल सन 260 हिजरी क़मरी को अभी सूरज निकला भी नहीं था कि सच्चाई और मार्गदर्शन के सूरज इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम शहीद हो गये जिससे पूरा इस्लामी …
पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा अपने स्वर्गवास से पहले इस्लाम को परिपूर्ण धर्म के रूप में मानवता के सामने पेश कर चुके थे।   उन्होंने कहा था कि मुझको नैतिकता को …
मंगलवार, 01 दिसम्बर 2015 16:03

इमाम हुसैन (अ) का चेहलुम

  करबला में इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम और उनके 72 साथियों की शहादत के चालीसवें दिन को अरबईन या चेहलुम कहा जाता है।  इस दुखद अवसर पर पूरे विश्व में विशेषकर …
Page 1 of 16