यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
रविवार, 10 अप्रैल 2016 20:17

भारत ईरान में 20 अरब डॉलर का निवेश करेगा

भारत ईरान में 20 अरब डॉलर का निवेश करेगा
भारत के पेट्रोलियम मंत्री की ईरान यात्रा के दौरान तेल के क्षेत्र में सहकारिता के संबंध में एक सहमति पत्र हस्ताक्षर हुए हैं।

इस सहमति पत्र के अनुसार दोनों देश फरज़ाद बी गैस फिल्ड के विकास के संबंध में एक दूसरे से सहयोग करेंगे। इसी तरह इस सहमति पत्र के अनुसार ईरानी तेल और तेल से बनने वाली वस्तुओं का भारत निर्यात किया जायेगा और दोनों पक्ष पेट्रोकेमिकल उदयोग के क्षेत्र में एक दूसरे से सहयोग करेंगे। ईरान के पेट्रोलियम मंत्री ने तेहरान में अपने भारतीय समकक्ष से भेंट के बाद कहा कि इस समय भारत ईरान से प्रतिदिन लगभग तीन लाख पचास हज़ार बैरेल तेल ख़रीदता है और आशा है कि प्रतिबंध समाप्त हो जाने के बाद इस मात्रा में वृद्धि होगी। ईरान के पेट्रोलियम मंत्री बीजन नामदार ज़ंगने ने कहा कि भारत के पेट्रोलियम मंत्री के साथ उनकी वार्ता का महत्वपूर्ण भाग फ़रज़ाद बी गैस फील्ड में पूंजी निवेश के बारे में था और आशा है कि दोनों पक्षों के मध्य इस परियोजना पर काम शुरू करने के समय के संबंध में सहमति बन जायेगी कि यह कठिन कार्य है और इसके लिए समय की आवश्यकता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि ईरान और भारत के संबंध ऊर्जा के कई रणनैतिक क्षेत्रों में हैं और वह केवल तेल के आयात तक सीमित नहीं है।

भारत के पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने भी ईरान के चाबहार बंदरगाह में 20 अरब डालर के निवेष हेतु अपने देश की तत्परता की घोषणा की और कहा कि ईरान और भारत के संबंध कच्चे तेल के आयात तक सीमित नहीं है और उनका देश चाबहार बंदरगाह के विस्तार में सहायता करने के लिए तैयार है। भारत के पेट्रोलियम मंत्री ने ईरान के केन्द्रीय बैंक के प्रमुख वलीउल्लाह सैफ से भी भेंट में भारत पर ईरानी तेल की बकाया राशि के भुगतान के बारे में विचारों का आदान- प्रदान किया और कहा कि ईरानी पैसे भारतीय बैंकों में सुरक्षित हैं और शीघ्र ही बैंकिंग सेवा बहाल होने के बाद उन्हें ईरान के हवाले कर दिया जायेगा। MM

Add comment


Security code
Refresh