यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
बृहस्पतिवार, 07 अप्रैल 2016 19:59

जायोनी शासन ने फिलिस्तीनियों की गिरफ्तारी में गति प्रदान कर दी है

जायोनी शासन ने फिलिस्तीनियों की गिरफ्तारी में गति प्रदान कर दी है

जायोनी शासन विभिन्न बहानों से फिलिस्तीनियों की गिरफ्तारी को जारी रखना चाहता है और इसके लिए वह भूमि प्रशस्त करने के प्रयास में है और विभिन्न बहानों से वह गिरफ्तार फिलिस्तीनियों को रिहा भी नहीं कर रहा है।

इसी प्रकार जायोनी शासन फिलिस्तीनियों पर किसी प्रकार का मुक़द्दमा चलाये बिना उन्हें जेलों में बंद किये हुए है और यह मानवाधिकार एवं अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों का खुला उल्लंघन है। इसी संबंध में फिलिस्तीन में बंदियों के मामलों के केन्द्र ने कहा है कि जायोनी शासन ने जारी वर्ष में भी फिलिस्तीनियों की गिरफ्तारी में वृद्धि कर दी है। फिलिस्तीन में बंदियों के मामलों के केन्द्र ने एक विज्ञप्ति में कहा है कि इस्राईल जारी वर्ष के आरंभ से अब तक 426 बार स्वतंत्र हो चुके फिलिस्तीनी बंदियों को दोबारा अस्थाई गिरफ्तारी का आदेश जारी कर चुका है। फिलिस्तीनी बंदियों के संबंध में जायोनी शासन के क्रिया- कलाप इस बात के सूचक हैं कि जायोनी शासन किसी भी अपराध में संकोच से काम नहीं ले रहा है और फिलिस्तीनियों के मध्य भय व आतंक व्याप्त करने के लिए अधिक से अधिक फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार करने की चेष्टा में है। जायोनी शासन जिन फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार करता है उन्हें इस्राईल की शांति व सुरक्षा के लिए ख़तरा बताता है। यह एसी स्थिति में है जब जायोनी शासन फिलिस्तीनियों के संबंध में मानवाधिकारों का हनन कर रहा है और उसे पश्चिमी व यूरोपीय देशों का समर्थन भी प्राप्त है।

बहुत से टीकाकारों का मानना है कि फिलिस्तीनियों पर किये जा रहे अत्याचार का महत्वूर्ण कारण पश्चिमी व यूरोपीय सरकारों द्वारा जायोनी शासन का व्यापक समर्थन है। MM

 

Media

Add comment


Security code
Refresh