यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
रविवार, 31 जनवरी 2016 15:20

फ़ार्सी सीखें 45

फ़ार्सी सीखें 45

सिल्क रोड बहुत ही प्राचीन मार्ग है जो कई देशों से होकर गुज़रता है तथा इसने विभिन्न देशों के मध्य आर्थिक तथा सांस्कृतिक आदान-प्रदान की भूमिका प्रशस्त की है।  सिल्क रोड का एक भाग चीन को भारत से और भारत को पूर्वी अफ़्रीक़ा से मिलाता है।  इस मार्ग पर बहुत सी एतिहासिक धरोहरें पाई जाती हैं जिनमें कुछ हमारे अधिकार में है और इन्ही में से एक वे महत्वपूर्ण सराए थीं जों सिल्क रोड के यात्रियों के लिए विश्राम करने की संभावनाएं उपलब्ध करवाती थीं।  स्वाभाविक सी बात है कि लंबी यात्रा के पश्चात लोग थक जाते हैं अतः एसी सराए या विश्रामगृहों की उपस्थिति, जो हर दृष्टि से सुरक्षित हों और जहां पर विश्राम किया जा सके तथा जहां पर अपनी कुछ व्यापारिक वस्तुओं का आदान-प्रदान भी किया जा सके एक विभूति समान है।  मुहम्मद और सईद इस संबन्ध में आपस में वार्ता करते हैं। उनकी वार्ता से पहले कार्यक्रम में प्रयोग किये जाने वाले शब्दों को ध्यान पूर्वक सुनिए।

 

 

सिल्क रोड

- جاده ابریشم

 

चारों ओर

اطراف -

 

तुम जानते हो

تو می دانی

 

सराए

کاروانسرا

 

बहुत

زیادی

 

उसका अस्तित्व रहा है

آن وجود داشته است

 

क्या है?

چیست

 

होटल

هتل

 

आज

امروز

 

यात्री

- مسافر

 

स्थान

محل

 

विश्राम

استراحت

 

बहुत से यात्री

مسافران

 

रातें

شبها

 

वे विश्राम किया करते थे

آنها استراحت می کردند

 

ताज़ा

تازه

 

मैं समझा

من فهمیدم

 

अर्थ

معنی

 

निश्चित रूप से

حتما"

 

अवशेष

آثار

 

वह बचा या बची है।

آن برجای مانده است

 

मरूस्थल

کویر

 

प्राचीन

قدیمی -

 

वह मौजूद है

آن وجود دارد

 

से संबन्धित

مربوط به

 

मैं सोचता हूं

من فکر می کنم

 

पर्यटक

گردشگر

 

बहुत से पर्यटक

گردشگران

 

विदेशी

خارجی

 

वे पसंद करते हैं

آنها دوست دارند

 

बहुत

بسیار

 

वे देखते हैं

آنها می بینند

 

वे देखना चाहते हैं

آنها دوست دارند ببینند

 

इसी प्रकार है

همین طور است

 

यहां तक कि

حتی

 

प्रवास- ठहरना

اقامت

 

मनमोहक

دلپذیر

 

तुम पहचानते हो

تو می شناسی

 

काल

دوران

 

वह बचा हुआ है

آن مانده است

 

वह रहा होगा

آن مانده باشد-

 

मरंजान- नगर का नाम

مرنجاب

 

क्षेत्र

منطقه

 

मरूस्थली

کویری

 

मैं पहचानता हूं

من می شناسم

 

ख़ुरासान- प्रांत का नाम

خراسان

 

रेई- स्थान का नाम

ری -

 

इस्फ़हान- नगर का नाम

اصفهان

 

वे जाते थे या जाया करते थे

آنها می رفتند

 

वे ठहरा करते थे

آنها اقامت می کردند

 

सरलता से

به راحتی

 

वे जाते हैं

آنها می روند -

 

वे जा सकते हैं

آنها می توانند بروند

 

अलबत्ता

البته

 

जलवायु

آب و هوا

 

सुन्दरता

زیبایی

 

प्राचीनता

قدمت

 

मीठा पानी

آب شیرین

 

वह उसे उस स्थान की ओर आकृष्ट करता है।

آن به آنجا می کشاند -

 

अब मुहम्मद और सईद की वार्ता पर ध्यान दीजिए।

 

सईदः क्या तुमको पता है कि सिल्क रोड के इर्दगिर्द बहुत सी सराएं या विश्रामगृह पाए जाते थे?

 

سعید - می دانی در اطراف جاده ابریشم ، کاروانسراهای زیادی وجود داشته است

मुहम्मदः सराए किसे कहते हैं?

 

محمد - کاروانسرا چیست ؟

सईदः सराएं, वर्तमान समय के होटलों की ही भांति यात्रियों का विश्रामगृह हुआ करती थीं।  सिल्करोड के यात्री रात के समय इन सरायों में विश्राम किया करते थे।

 

سعید - کاروانسرا مثل هتل های امروز ، محل استراحت مسافران بوده است . مسافران جاده ابریشم ، شبها در این کاروانسراها استراحت می کردند .

मुहम्मदः अब मेरी समझ में आया कि सराय का क्या अर्थ है? निश्चित रूप से सिल्क रोड के किनारे-किनारे बहुत सी सराएं बनी हुई थीं।  क्या इनमें से कुछ के अवशेष अब भी मौजूद हैं?

 

محمد - تازه فهمیدم کاروانسرا به چه معنی است . حتما" کاروانسراهای زیادی در اطراف جاده ابریشم وجود داشته است . آیا آثاری از این کاروانسراها برجای مانده است ؟

सईदः हां।  ईरान के मरूस्थल में कुछ प्राचीन सराएं पाई जाती हैं जो सिल्करोड से संबन्धित हैं। 

 

سعید - بله . در کویر ایران چند کاروانسرای قدیمی وجود دارد که مربوط به جاده ابریشم است.

मुहम्मदः मैं सोचता हूं कि विदेशी पर्यटक इन सरायों को देखने में रूचि रखते होंगे।

 

محمد - فکر می کنم گردشگران خارجی بسیار دوست دارند که این کاروانسراها را ببینند .

सईदः एसा ही है।  इन प्राचीन सरायों में विश्राम करना बहुत ही रोचक है।

 

سعید - همین طور است . حتی اقامت در این کاروانسراهای قدیمی ، خیلی دلپذیر است .

मुहम्मदः क्या तुमको किसी एसी सराय का पता है जो उस काल की हो?

 

محمد - کاروانسرایی را می شناسی که از آن دوران مانده باشد ؟

सईदः हां।  मरूस्थलीय क्षेत्र में मरंजाब नामक सराय है।  वे यात्री जो ख़ुरासान से रेई और इस्फ़हान जाया करते थे वे इसी सराय में ठहरते थे।

 

سعید - کاروانسرای مرنجاب در منطقه کویری را می شناسم . مسافرانی که از خراسان به ری و اصفهان می رفتند ، در این کاروانسرا اقامت می کردند .

मुहम्मदःक्या पर्यटक वहां पर सरलता से जा सकते हैं?

 

محمد - آیا گردشگران می توانند به راحتی به آنجا بروند ؟

सईदः क्यों नहीं।  इस क्षेत्र की जलवायु, सराय की सुन्दरता और उसकी प्राचीनता तथा वहां का मीठा पानी बहुत से पर्यटकों को इस ओर आकृष्ट करता है।

 

سعید - البته . آب و هوای کویری ، زیبایی و قدمت کاروانسرا و آب شیرین آن ، مسافران و گردشگران زیادی را به آنجا می کشاند .

 

सईद ने कहा कि इस सराय के क्षेत्र का पानी मीठा है।  इस बात के दृष्टिगत कि मरंजाब सराय, मरूस्थल में स्थित है और यह क़ुम की नमक की झील के निकट मौजूद है, एसे में यहां पर मीठे पानी की उपस्थिति, पर्यटकों के आश्चर्य का कारण है।  अलबत्ता मरंजाब सराय के निकट बहराम क़िले की उपस्थिति तथा आरान और बीदगुल जैसे नगरों की वहां पर मौजूदगी के कारण भी प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में यहां पर पर्यटक आते हैं।  मरंजाब सराय को वर्गाकार में बनाया गया है।  इसमें कई कमरे हैं तथा एक स्वीमिंगपूल है जो इसके दक्षिणी छोर पर स्थित है।  वर्तमान समय में ईरानी और विदेशी पर्यटक भी सिल्क रोड के यात्रियों की ही भांति इस प्राचीन सराय में विश्राम कर सकते हैं।  सिल्क रोड पर ईरान के भीतर कुछ अन्य सराएं भी हैं जिनका या तो पुनर्निमाण किया जा चुका है या पुनर्निमाण किया जा रहा है।

फ़ेसबुक पर हमें लाइक करें, क्लिक करें 

Add comment


Security code
Refresh