यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
समाचार
इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति डाक्टर हसन रूहानी ने कहा है कि दुनिया वालों और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने परमाणु प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में ईरानी राष्ट्र के अधिकार को स्वीकार कर …
यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने सऊदी अरब से मिले इस देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में संघर्ष लागू रहने पर बल दिया है।
बृहस्पतिवार, 07 अप्रैल 2016 13:10

ईरान की ताज़ा परमाणु उपलब्धियां

राष्ट्रपति रूहानी ने शुक्रवार को ईरान के राष्ट्रीय परमाणु प्रौद्योगिकी दिवस से पहले आयोजित एक समारोह में देश की ताज़ा परमाणु उपलब्धियों को बयान किया।
ऐसी स्थिति में जब इराक़ी सेना इस देश के उत्तरी शहर मूसिल को दाइश के नियंत्रण से आज़ाद कराने की तय्यारी में जुटी हुयी है, अमरीकी सेना ने इराक़ में …
अमरीका में पुलिस के हाथों एक 12 साल की छात्रा की पिटाई का दिल दहलाने वाला वीडियो सामने आया है जिसमें पुलिस कर्मी जॉशुआ कीम इस बच्ची को पत्थर के …
सऊदी अरब ने इस साल हज यात्रा की व्यवस्था पर चर्चा के लिए आधिकारिक रूप से ईरान को आमंत्रित किया है।
ईरान के विदेश मंत्री ने ईरान, रूस और आज़रबाइजान गणराज्य की त्रिपक्षीय बैठक को आपसी संबंधों के विस्तार के लिए तीनों देशों के संकल्प का चिन्ह बताया है।
सीरिया की सेना ने देश के अनेक क्षेत्रों में आतंकियों के साथ होने वाली झड़पों में उन्हें भारी क्षति पहुंचाई है।
यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों जौफ़ प्रांत में की गयी कार्यवाही में सऊदी अरब के कम से कम 70 एजेन्ट मारे गये।
इराक़ी सेना और स्वयंसेवी बलों ने आतंकी गुट दाइश को भारी जानी व माली नुक़सान पहुंचाया है।
रूस का कहना है कि आतंकवादी गुट दाइश के रासायनिक हमले पर संयुक्त राष्ट्रसंघ ने प्रतिक्रिया नहीं दी जो खेदजनक है।
बुधवार, 06 अप्रैल 2016 19:54

यमन पर सऊद हमलों का क्रम जारी

सऊदी अरब के युद्धक विमानों ने यमन के दक्षिणी और पश्चिमोत्तरी प्रांतों तइज़ व हज्जा पर बमबारी की।
इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने कहा है कि जनता की समस्याओं के समाधान के लिए की जाने वाली कार्यवाहियों का समर्थन करता हूं। वरिष्ठ …
इराक़ी संचार माध्यमों ने इस देश की राजधानी में दो भीषण विस्फोटों की सूचना दी है।
इस्राईल की गुप्तचर संस्था मोसाद के पूर्व प्रमुख ने अपनी मौत से पहले कहा था कि इस्राईल पर ईरान के परमाणु प्रतिष्ठान पर हमला करने की क्षमता नहीं है।