यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
सोमवार, 11 अप्रैल 2016 20:21

लीबिया, अमरीका के कारण अस्थिर हुआ है

लीबिया, अमरीका के कारण अस्थिर हुआ है
रूस की सरकार ने अमरीका की ओर से लीबिया के अतिग्रहण को अस्थिर करने वाली कार्यवाही बताया।

स्पूतनिक समाचार एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार, रूस की सरकार ने घोषणा की है कि अमरीका और उसके घटकों द्वारा लीबिया के अतिग्रहण और इस अतिग्रहण के परिणाम स्वरूप मोअम्मर क़ज़्ज़ाफ़ी के शासन के पतन के कारण यह देश विभाजित हो गया।

रूसी सरकार ने इस बात की ओर संकेत करते हुए कि अमरीका की ओर से लीबिया का अतिग्रहण, इस देश के लिए पराजय समझा जाएगा, कहा कि रूसी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने बारंबार लीबिया के अतिग्रहण और इस देश में जो कुछ हो रहा है, उसके बारे में सचेत किया था। रूसी सरकार का कहना है कि लीबिया का विफल देशों में परिवर्तित होना, अमरीकी नीतियों का परिणाम है।

ज्ञात रहे कि अमरीकी राष्ट्रपति ने रविवार को फ़ाक्स न्यूज़ एजेन्सी से बात करते हुए कहा कि उनके राष्ट्रपति काल की सबसे बड़ी ग़लती लीबिया में कर्नल क़ज़्ज़ाफ़ी के बाद के लिए योजना का न होना था। उन्होंने लीबिया में सैन्य हस्तक्षेप की वकालत करते हुए इस देश की वर्तमान स्थिति को ख़राब बताया। अमरीकी राष्ट्रपति ने अपने राष्ट्रपति काल की सफलताओं का वर्णन करते हुए कहा कि उनके राष्ट्रपति काल में सबसे बड़ी ग़लती 2008 में अमरीका को आर्थिक संकट से मुक्ति दिलाना था।

यह पहली बार नहीं है जब अमरीकी राष्ट्रपति लीबिया में नैटो के हस्तक्षेप के बारे में बात कर रहे हैं। अमरीकी राष्ट्रपति ने पिछले वर्ष सितंबर में भी संयुक्त राष्ट्र संघ में भाषण देते हुए लीबिया में हस्तक्षेप की निंदा की और कहा कि हमारा गठबंधन लीबिया में शून्य को भरने के लिए और भी प्रयास कर सकता था। (AK)

Add comment


Security code
Refresh