यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
सोमवार, 11 अप्रैल 2016 18:25

ईरान की विदेश नीति संतुलित और परस्पर सम्मान पर आधारित

ईरान की विदेश नीति संतुलित और परस्पर सम्मान पर आधारित
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि ईरान की विदेश नीति संतुलित है जो परस्पर सम्मान पर आधाराित है।

हुसैन जाबिरी अंसारी ने ईरान की विदेश नीति को संतुलित बताते हुए कहा कि सभी पड़ोसी और पश्चिमी देशों के साथ परस्पर सम्मान के आधार पर संबन्ध स्थापित करने के विषय को ईरान की विदेश नीति में प्राथमिकता प्राप्त है।

सोमवार के दिन उन्होंने तेहरान में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि ईरान, परस्पर सम्मान के आधार पर संबन्धों को बनाने के पक्ष में है और वह इसी नीति को आगे बढ़ा रहा है। हुसैन जाबिरी अंसारी ने कहा कि विश्व की वर्तमान परिस्थितियों में किसी विशेष विभाग पर ध्यान केन्द्रित करने से न तो ईरान को लाभ होगा और न ही किसी दूसरे देश को।

ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बड़े खेद के साथ कहना पड़ता है कि कुछ क्षेत्रीय देशों की नीतियां, क्षेत्र में तनाव और मतभेद का कारण बनी हुई हैं जबकि ईरान इन नीतियों का विरोधी है।

हुसैन जाबिरी अंसारी ने कहा कि यूरोपीय संघ की विदेश नीति की प्रभारी मोग्रीनी, एक उच्च स्तरीय शिष्टमण्डल के साथ 16 अप्रैल को ईरान की यात्रा पर आ रही हैं।

उन्होंने क़ज़्ज़ाक़िस्तान के राष्ट्रपति की तेहरान यात्रा की ओर संकेत करते हुए कहा कि उनकी इस यात्रा के अवसर पर द्विपक्षीय और परस्पर हितों के विषयों पर विचार-विमर्श किया जा रहा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि मंगलवार को इटली के प्रधानमंत्री, तेहरान और रोम के संबंधों की समीक्षा के उद्देश्य से तेहरान आ रहे हैं।

रूस की ओर ईरान को एस-300 मिसाइल व्यवस्था दिये जाने के बारे में उन्होंने कहा कि इस बारे में प्राथमिक सहमति बन चुकी है।

फ़ार्स की खाड़ी में अमरीका के नेतृत्व में सैन्य अभ्यास के बारे में पूछे गए प्रश्न के उत्तर में कहा कि क्षेत्रीय देशों से संबन्धों को बनाए रखना ईरान की मूल नीति है। उन्होंने स्पष्ट किया कि क्षेत्र में विदेशियों के हस्तक्षेप से क्षेत्र की शांति एवं सुरक्षा में किसी प्रकार की सहायता नहीं मिलेगी।

Add comment


Security code
Refresh