यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
बृहस्पतिवार, 24 मार्च 2016 15:57

अंतर्राष्ट्रीय सहायता, विदेशी सलाहकारों पर ख़र्चः अशरफ़ ग़नी

अंतर्राष्ट्रीय सहायता, विदेशी सलाहकारों पर ख़र्चः अशरफ़ ग़नी
अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति ने इस बात पर बल दिया कि विश्व समुदाय की ओर से दी जाने वाली सहायता का अधिकतर भाग इस देश में मौजूद विदेशी सलाहकारों पर ही ख़र्च हो जाता है।

आवा न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार, मुहम्मद अशरफ़ ग़नी ने यह बात काबुल में गुट-7 के विदेशमंत्रियों की चौथी बैठक में कही। उन्होंने पिछले वर्षों के दौरान अफ़ग़ानिस्तान को दी जाने वाली विदेशी सहायताओं की ओर संकेत करते हुए कहा कि इस सहायता का भाग विदेशियों के लिए विशेष था। उन्होंने कहा कि रुकावटों को अफ़ग़ानिस्तान के भीतर दूर किया जाना चाहिए और जो समस्याएं हैं उनके लिए दूसरों को ज़िम्मेदार नहीं ठहराना चाहिए।

अफ़ग़ान राष्ट्रपति ने कहा कि कार्यालय में भ्रष्टाचार का मुक़ाबला करना चाहिए और जो सरकारी कर्मी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं उनके विरुद्ध कार्यवाही होनी चाहिए।

अफ़ग़ानिस्तान के विदेशमंत्री सलाहुद्दीन रब्बानी ने भी इस बैठक में कहा कि युद्ध और संकट से प्रभावित देशों के लिए सहायता प्राप्त करना, इस बैठक के लक्ष्यों में शामिल है। उन्होंने कहा कि विश्व समुदाय की ओर से अफ़ग़ानिस्तान की सहायता करने के बावजूद युद्धग्रस्त इस देश को समस्याओं का सामना है। अफ़़ग़ानिस्तान के बारे में गुट-7 के विदेशमंत्रियों की चौथी बैठक बुधवार को काबुल में आरंभ हुई जो बृहस्पतिवार को समाप्त हो गयी।

गुट-7 2010 में गठित हुआ था। इस समय इसके सदस्यों की संख्या 20 तक पहुंच चुकी है। अफ़ग़ानिस्तान, सोमालिया, दक्षिणी सूडान, सियरालियोन, चाड, कांगो और हैती इसके महत्वपूर्ण सदस्य हैं। (AK)

Add comment


Security code
Refresh