यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
शनिवार, 12 दिसम्बर 2015 18:18

गाम्बिया भी "इस्लामी गणतंत्र" बना

गाम्बिया भी  "इस्लामी गणतंत्र" बना

गाम्बिया के राष्ट्रपति ने इस देश को औपचारिक रूप से इस्लामी गणतंत्र घोषित कर दिया है।

गाम्बिया के राष्ट्रपति यमया जामेह ने इस देश के टीवी पर अपने एक भाषण में घोषणा की है कि देश की धार्मिक मान्यताओं और पहचान की रक्षा करते हुए मैं इस गाम्बिया को इ्सलामी गणतंत्र घोषित करता हूं क्योंकि देश की आबादी मुसलमानों पर आधारित है इस लिए हमारा देश अब अतीत की भांति बड़ी शक्तियों की कॅालोनी के रूप में नहीं रह सकता।

 

उन्होंने कहा कि गाम्बिया में रहने वाले गैर मुस्लिम, पहले की ही भांति आज़ादी के साथ अपने धार्मिक संस्कारों का पालन कर सकते हैं।

 

गाम्बिया पश्चिमी अफ्रीका में स्थित एक देश है और यह अफ्रीकी मुख्य भूमि पर स्थित सबसे छोटा देश है, इसकी उत्तरी, पूर्वी और दक्षिणी सीमा सेनेगल से मिलती है, पश्चिम में अन्ध महासागर से लगा छोटा सा तटीय क्षेत्र है। देश का नाम गाम्बिया नदी पर से पड़ा है

18 फरवरी, 1965 को गाम्बिया ब्रिटेन से स्वतन्त्र हुआ और राष्ट्रमण्डल में सम्मिलित हो गया। बांजुल गाम्बिया की राजधानी है, लेकिन सबसे बड़ा नगर सेरीकुंदा है।

 

गाम्बिया अन्य पश्चिम अफ़्रीकी देशों के साथ एतिहासिक दास व्यापार का एक भाग था, जो गाम्बिया नदी पर उपनिवेश स्थापित करने का एक प्रमुख कारण था।

 

गाम्बिया एक कृषि सम्पन्न देश है और देश की अर्थव्यस्था में खेती-बाड़ी, मत्स्य-ग्रहण और पर्यटन-उद्योग की प्रमुख भूमिका है।

 

गाम्बिया से पहले विश्व के 4 देश, औपचारिक रूप से इस्लामी गणतंत्र व्यवस्था की घोषणा कर चुके हैं।

 

 

पाकिस्तान ने वर्ष 1951 में मोरितानिया ने वर्ष 1958 में और ईरान ने वर्ष 1979 में तथा अफगानिस्तान ने वर्ष 2001 में औपचारिक रूप से इस्लामी गणतंत्र होने की घोषणा की।

 

विश्व में मुस्लिम बाहुल्य देशों की संख्या लगभग 50 है किंतु इन देशों में या तो गणतंत्र या फिर राजशाही व्यवस्था है।

 

 

Add comment


Security code
Refresh