यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
शुक्रवार, 01 अप्रैल 2016 13:59

अमरीका में फ़िलिस्तीनियों की क़ानून से इतर हत्या की जांच की मांग

17 मार्च 2016 की एएफ़पी की इस तस्वीर में वॉशिंग्टन में अमरीकी सेनेट की न्यायिक कमेटी के सदस्य पैट्रिक लेही (दाएं) जज मेरिक बी गारलैंड का अपने कार्यालय में स्वागत करते हुए। 17 मार्च 2016 की एएफ़पी की इस तस्वीर में वॉशिंग्टन में अमरीकी सेनेट की न्यायिक कमेटी के सदस्य पैट्रिक लेही (दाएं) जज मेरिक बी गारलैंड का अपने कार्यालय में स्वागत करते हुए।

अमरीकी सेनेटरों के एक गुट ने ओबामा प्रशासन से, इस्राइली सैनिकों के हाथों फ़िलिस्तीनियों की क़ानून से इतर हत्या पर, इस्राईल को सैन्य मदद पर पुनर्विचार की मांग की है।

 

 

अमरीकी सेनेटर पैट्रिक लेही के साथ 10 और सेनेटरों ने अमरीकी विदेश मंत्री जान केरी को हाल में ख़त लिख कर इस्राईल द्वारा मानवाधिकार के घोर उल्लंघन की जांच की मांग की है। 17 फ़रवरी के इस ख़त का ब्योरा अभी हाल में जारी किया गया। इस ख़त पर दस्तख़त करने वालों ने कहा है कि इस्राइली सैनिकों के हाथों फ़िलिस्तीनियों की क़ानून से इतर हत्या की जांच होनी चाहिए।

इन सेनेटरों का कहना है कि यह बात सुनिश्चित होनी चाहिए कि इस्राईल को अमरीका की सैन्य मदद रोकी जाए या नहीं क्योंकि अमरीकी क़ानून में उस विदेशी सैन्य इकाई को सैन्य सहायता रोकने का आदेश है जो मानवाधिकार का उल्लंघन करती है।

अमरीकी सेनेटरों की ओर से इस्राइली सैनिकों द्वारा फ़िलिस्तीनियों की हत्या की जांच की मांग पर ज़ायोनी प्रधान मंत्री बिनयामिन नेतनयाहू ने कड़ी प्रतिक्रिया जतायी है।

 

नेतनयाहू ने गुरुवार को कहा कि इस्राइली सैनिक और सुरक्षा बल हत्यारे नहीं हैं।

कुछ दिन पहले फ़िलिस्तीनी सरकार ने संयुक्त राष्ट्र संघ से इस्राइली शासान द्वारा क़ानून से इतर फ़िलिस्तीनियों की अतिग्रहित क्षेत्रों में हत्या की जांच की मांग की थी। सोमवार को यह मांग ऐसी स्थिति में की गयी कि इससे पहले अतिग्रहित पश्चिमी तट के अलख़लील शहर में एक इस्राइली सैनिक ने एक घायल फ़िलिस्तीनी को गोली मार कर हताहत कर दिया था।

 

24 मार्च को एक इस्राइली मानवाधिकार गुट ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें उसी दिन सुबह के समय दो फ़िलिस्तीनी नौजवान, एक इस्राइली सैनिक को कथित रूप से चाक़ू मारने के आरोप में, इस्राइली सैनिकों के हाथों गोली से मरते दिखाई दे रहे हैं। (MAQ/N)

 

Add comment


Security code
Refresh