यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
बुधवार, 16 दिसम्बर 2015 12:26

सऊदी अरब कर रहा है युद्धविराम का हनन, राष्ट्र संघ की चेतावनी

सऊदी अरब कर रहा है युद्धविराम का हनन, राष्ट्र संघ की चेतावनी
यमन की सेना के प्रवक्ता ने शरफ़ ग़ालिब लुक़मान ने कहा है कि सऊदी अरब के नेतृत्व वाला गठबंधन बड़े पैमाने पर युद्धविराम का उल्लंघन कर रहा है।

यमनी सेना के प्रवक्ता ने मंगलवार की रात कहा कि यमन के विभिन्न क्षेत्रों में सऊदी अरब और उसके घटकों की ओर से ज़मीन, समुद्र और हवा से ख़तरनाक हमले किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमलावर शक्तियों के हाथों बिके हुए कुछ यमनी तत्व मारिब प्रांत में अलमास और अन्नज्द में हमले कर रहे हैं और दूसरी ओर अलहुदैदा प्रांत के अल्लहया शहर पर हमलावर देशों की युद्धक नौकाएं समुद्र से गोलाबारी कर रही हैं। प्रवक्ता के अनुसार तइज़्ज़ प्रांत में सऊदी अरब के युद्धक विमानों की मदद से अलजमलीया इलाक़े पर हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सऊदी अरब और उसके घटक युद्धविराम का लाभ उठाकर सैनिक प्रगति करने की चेष्टा में हैं। शरफ़ ग़ालिब लुक़मान ने कहा कि यमन की सेना और स्वयंसेवी बल पूरी तरह संघर्ष विराम पर कटिबद्ध हैं लेकिन यदि हमले जारी रहे तो हम भी भरपूर जवाबी कार्यवाही करेंगे।

ज्ञात रहे कि यमन में मंगलवार को एक सप्ताह का संघर्ष विराम लागू हुआ है इस बीच यमनी पक्षों के बीच स्वीज़रलैंड में शांति वार्ता होगी।

उधर यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत इसमाईल वलद शैख़ ने कहा कहा कि यदि वार्ता विफल होती है और युद्धविराम का हनन किया जाता है तो इसके ख़तरनाक परिणाम निकलेंगे।

इसमाईल वलद शैख़ ने अपने फ़ैसबुक पेज पर लिखा कि स्वीज़रलैंड में बहुत निर्णायक चरण में वार्ता हो रही है क्योंकि ख़तरे बढ़ चुके हैं और क्षेत्रीय व आंतरिक स्तर पर चुनौतियां व्यापक हो चुकी हैं अतः यदि वार्ता नाकाम होती है तो इसके भारी जानी व माली दुष्परिणाम निकलेंगे।

Add comment


Security code
Refresh