यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
चौपाल
बृहस्पतिवार, 19 जून 2014 14:49

मूसिल तक फैलता आतंकवाद का कैंसर

इस्लामिक स्टेट इराक़ एंड सीरिया आईएसआईएल या दाइश आतंकवादी संगठन ने पिछले वर्ष अंबार प्रांत में कार्यवाही शुरू की थी और रेमादी और फल्लूजा के कुछ क्षेत्रों पर कब्जा कर …
मंगलवार, 17 जून 2014 13:34

Dr Hemant Kumar

  Aapki khushi bhi aapke liye ek wada ho, Aapka gum ek Tinke se bhi adha ho, Dua hai aap jitni zindagi jiye khushi se jiye, Bas Aapki umar Meri …
मंगलवार, 17 जून 2014 13:31

Dr Hemant Kumar

Roz sirf itna karo: - Gum ko Delete... Khushi ko Save... Riston ko Download.. Dusmani ko Erase... Sach ko Broadcast... Jhooth ko Switch off... Tension ko Not reachable... Pyar ko …
पिछले दिनों इराक़ के कई शहरों के नाटकीय पतन ने इन घटनाओं के कारण, आतंकवादी समूह दाइश की प्रवृत्ति और इन घटनाओं के परिणाम के बारे में कई प्रश्न खड़े …
फ़ारेन पालेसी पत्रिका ने इराक़ की स्थिति के बारे में अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि दाइश नामक आतंकवादी गुट क्षेत्र में ईरान के प्रभाव को कम करने का …
बुधवार, 11 जून 2014 15:37

harishchandra1641

मित्रवर  रसखान के बारे में मर्मज्ञ चिंतक विद्यानिवास मिश्र कहते हैं कि ‘रसखान का संसार देखने में छोटा है, ब्रज के कुछ हजार गोप-गोपियों का संसार है। पर वस्तुतः बड़ा विस्तृत है, क्योंकि बहुत खुला हुआ है, क्योंकि कहीं बीच मेंकोई ओट या कोई दीवार नहीं है। अगर ओट है तो वह भी अपने ही सीधेपन की, अपने ही संकोच की ओट है। रसखान का मन एक बींधा हुआ मन है, एक अपने ही आप से दिपा हुआ मन है। ऐसे कवि के बारे में कुछ भी कहतेसमय यह सुधि नहीं रहती कि कहाँ से शुरू करें, जिस लीला-वितान का गान रसखान ने किया है, उसका न कहीं आदि है और न अंत। इस लीला का प्रत्येक क्षण अपूर्व है।’ हिंदीसमय (http://www.hindisamay.com) परउनकी विख्यात कृति प्रेमवाटिका प्रस्तुत करते हुए हम एक साथ खुशी और संतोष का अनुभव कर रहे हैं। हिंदी में इतिहास को केंद्र में रखकर उपन्यास या कहानियाँ लिखने की प्रवृत्ति का अभाव रहा है। वृंदावनलाल वर्मा  उन गिने चुने रचनाकारों में से हैं जिन्होंने अपनी रचनात्मकता से हिंदी साहित्य के इस अभाव को दूरकरने का काम किया है। पर यहाँ प्रस्तुत उनकी लंबी कहानी दबे पाँव ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से इतर एक अद्भुत शिकार-कथा है। दूसरी कहानी है अपनी शांत और सहज कहानियों के लिए विख्यात कथाकार ज्योत्स्ना मिलन कीऊपर से यह भी। चंद्रधर शर्मा गुलेरी अपनी कहानियों के लिए जाने जाते रहे हैं पर उनके निबंध भी अपनी एक अलग जगह रखते हैं। प्रस्तुत है उनका एक प्रतिनिधि निबंध कछुआ-धरम। सिनेमा और साहित्य के रिश्ते पर इस बार हम तीन विशेष आलेख प्रस्तुत कर रहे हैं इकबाल रिजवी का सिनेमा और हिंदी साहित्य , जवरीमल्ल पारख का ‘चित्रलेखा’ और सिनेमाई रूपांतरण की समस्याएँ  तथा अमरेंद्रकुमार शर्मा  का हमारे समय की दरारों में मृणाल सेन का सिनेमा। बाल साहित्य के अंतर्गत पढ़ें ज़ाकिर अली रजनीश की कहानी उसके बिना। कविताएँ हैं सूरीनाम के प्रतिनिधि कवियों में से एक सुरजन परोही की। हमेशा की तरह आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा। सादर, हिंदी समय टीम
अमेरिका के वरिष्ठ पत्रकार ग्रेट पोर्टर ने जो वर्षों से अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों के बारे में काम कर रहे हैं, फ़ार्स समाचार एजेंसी के साथ एक साक्षात्कार …
आईएईए की बैठक ऐसे में आयोजित हुई कि जब बैठक में चर्चा का एक महत्वपूर्ण विषय, ईरान का परमाणु कार्यक्रम है। ईरान की ओर से व्यापक सहयोग के बावजूद, आईएईए …
पाकिस्तान में अमरीका के अभियान और संदिग्ध रूप में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद, इस्लामाबाद और वाशिंग्टन के संबंधों में खटास पैदा हो गयी थी किन्तु अंततः …
जनरल अब्दुल फ़त्ताह सीसी ने जो स्वयं को मिस्र का राष्ट्रपति समझते हैं, ईरानी राष्ट्रपति को अपने शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने का निमंत्रण दिया है। वह रविवार को …
कहते हैं कि तानाशाही का ज़माना लद गया और उसकी जगह लोकतंत्र ने ले लिया है और धीरे धीरे दुनिया की सभी व्यवस्था, न चाहते हुए भी इस मार्ग पर …
बृहस्पतिवार, 22 मई 2014 14:02

प्रजातंत्र की राह पर इराक़

इराक़ में संसदीय चुनाव के परिणाम घोषित कर दिये गये हैं कि प्रधानमंत्री नूरी मलिकी के नेतृत्व वाले क़ानून के प्रभुत्व गठबंधन को सबसे नब्बे सीटें प्राप्त हुई हैं। इसके …
भारतीय दलित साहित्य अकासमी, दिल्ली ने दिनांक १२ दिसम्बर २०१३ को कर्नाटक के डॉ. सुनील कुमार परीट जी को उनके समग्र साहित्य सेवा के लिए ’डॉ. अम्बेडकर फेलोशिप नेशनल अवार्ड …
वर्षों तक मतभेद के बाद अंततः फ़िलिस्तीन के दो प्रतिस्पर्धी पक्षों अर्थात फ़त्ह और हमास ने राष्ट्रीय शांति समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। इस संबंध में जो प्रश्न सबसे …
मंगलवार, 06 मई 2014 18:30

Dr Hemant Kumar,

  पत्नी अपने कपड़े पैक कर रही थी- पति ने पूछाः कहां जा रही हो? पत्नीः मैँ अपनी मां के घर जा रही हूं। पति भी अपने कपड़े पैक करने …