यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
श्रोताओ का पत्र
मंगलवार, 17 जून 2014 13:31

Dr Hemant Kumar

Roz sirf itna karo: - Gum ko Delete... Khushi ko Save... Riston ko Download.. Dusmani ko Erase... Sach ko Broadcast... Jhooth ko Switch off... Tension ko Not reachable... Pyar ko …
बुधवार, 11 जून 2014 15:37

harishchandra1641

मित्रवर  रसखान के बारे में मर्मज्ञ चिंतक विद्यानिवास मिश्र कहते हैं कि ‘रसखान का संसार देखने में छोटा है, ब्रज के कुछ हजार गोप-गोपियों का संसार है। पर वस्तुतः बड़ा विस्तृत है, क्योंकि बहुत खुला हुआ है, क्योंकि कहीं बीच मेंकोई ओट या कोई दीवार नहीं है। अगर ओट है तो वह भी अपने ही सीधेपन की, अपने ही संकोच की ओट है। रसखान का मन एक बींधा हुआ मन है, एक अपने ही आप से दिपा हुआ मन है। ऐसे कवि के बारे में कुछ भी कहतेसमय यह सुधि नहीं रहती कि कहाँ से शुरू करें, जिस लीला-वितान का गान रसखान ने किया है, उसका न कहीं आदि है और न अंत। इस लीला का प्रत्येक क्षण अपूर्व है।’ हिंदीसमय (http://www.hindisamay.com) परउनकी विख्यात कृति प्रेमवाटिका प्रस्तुत करते हुए हम एक साथ खुशी और संतोष का अनुभव कर रहे हैं। हिंदी में इतिहास को केंद्र में रखकर उपन्यास या कहानियाँ लिखने की प्रवृत्ति का अभाव रहा है। वृंदावनलाल वर्मा  उन गिने चुने रचनाकारों में से हैं जिन्होंने अपनी रचनात्मकता से हिंदी साहित्य के इस अभाव को दूरकरने का काम किया है। पर यहाँ प्रस्तुत उनकी लंबी कहानी दबे पाँव ऐतिहासिक पृष्ठभूमि से इतर एक अद्भुत शिकार-कथा है। दूसरी कहानी है अपनी शांत और सहज कहानियों के लिए विख्यात कथाकार ज्योत्स्ना मिलन कीऊपर से यह भी। चंद्रधर शर्मा गुलेरी अपनी कहानियों के लिए जाने जाते रहे हैं पर उनके निबंध भी अपनी एक अलग जगह रखते हैं। प्रस्तुत है उनका एक प्रतिनिधि निबंध कछुआ-धरम। सिनेमा और साहित्य के रिश्ते पर इस बार हम तीन विशेष आलेख प्रस्तुत कर रहे हैं इकबाल रिजवी का सिनेमा और हिंदी साहित्य , जवरीमल्ल पारख का ‘चित्रलेखा’ और सिनेमाई रूपांतरण की समस्याएँ  तथा अमरेंद्रकुमार शर्मा  का हमारे समय की दरारों में मृणाल सेन का सिनेमा। बाल साहित्य के अंतर्गत पढ़ें ज़ाकिर अली रजनीश की कहानी उसके बिना। कविताएँ हैं सूरीनाम के प्रतिनिधि कवियों में से एक सुरजन परोही की। हमेशा की तरह आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा। सादर, हिंदी समय टीम
भारतीय दलित साहित्य अकासमी, दिल्ली ने दिनांक १२ दिसम्बर २०१३ को कर्नाटक के डॉ. सुनील कुमार परीट जी को उनके समग्र साहित्य सेवा के लिए ’डॉ. अम्बेडकर फेलोशिप नेशनल अवार्ड …
मंगलवार, 06 मई 2014 18:30

Dr Hemant Kumar,

  पत्नी अपने कपड़े पैक कर रही थी- पति ने पूछाः कहां जा रही हो? पत्नीः मैँ अपनी मां के घर जा रही हूं। पति भी अपने कपड़े पैक करने …
Dear Sir, Greetings from BCAS. I am a listeners of Radio Tehran Bengali and Hindi service . Regular visit this Website. Kindly send me Radio Tehran program & others documents. 
शिवहर पिपराही बिहार से मुकुन्द कुमार ने लिखा है मै रेडियो तेहरान का नया श्रोता हूं और आपके कार्यक्रमों का एक अजीज श्रोता हूं। आपका कार्यक्रम बेहद ज्ञानवर्धक व रूचिपूर्ण …
  चन्दा चौक,मधेपुर, मधुबनी बिहार से शोभीकान्त झा सज्जन, हेमलता सज्जन, प्रमोद कुमार सुमन,रेनु सुमन इन सभी ओर से यह पत्र है। इस में कार्यक्रमों के बारें में लिखा है …
बुधवार, 27 नवम्बर 2013 15:13

कोड़मा झाखंड से अनसुम आरा

कोड़मा झाखंड से अनसुम आरा लिखती हैं : मैं एक छत्र हूं और मैं कुछ गैर मुसलमानों को इस्लाम के बारें जानने के लिये आमंत्रित करना चाह हरी हूं कि …
शनिवार, 23 नवम्बर 2013 15:53

मोताला महाराष्ट्र से ओमदादु

  रेडीओ तेहरान कि वेबसाइट के हम नियमित पाठक है देश विदेश के ताजातरीन समाचारो के साथ स्वास्थ,विज्ञान और ईरानी संस्कृती का सुरेख दर्शण यहॉ दिखाई देता है ईधर ऊधर …
शनिवार, 16 नवम्बर 2013 16:03

जैतरन राजस्थान से सरोज

जैतरन राजस्थान से सरोज लिखती हैं मैं आपके रेडियो तेहरान कि एक नयी श्रोता हूं मुझे आपके कार्यक्रम बेहद ज्ञानवर्धक,व उपयोगी लगते हैं। मैं आपके कार्यक्रमों की नियमित श्रोता हूं। …
ग्राम गंगापुर मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल से अमरीन खातुन ने बहुत ही सुन्दर हस्तलिपी में लिखा है मैं आपके हिन्दी कार्यक्रमों को प्रतिदिन सुनती हूं। सभी कार्यक्रम बहुत अच्छे लगते हैं। …
सियोन रेडियो लिस्नर्स क्लब के अध्यक्ष राम बिलास प्रसाद का यह पत्र है कृतपुर,पुर्वी चम्पारण बिहार से लिखते हैं  मैं आपके कार्यक्रमों को प्रतिदिन सुनता हूं। देश विदेश की ताजा …
शनिवार, 19 अक्तूबर 2013 16:08

Dr Hemant Kumar

Chehre ki hansi se har gam ko mita do Bahut kam bolo par sab kuchh bata do Khud na rutho par sabko mana lo Yahi Zindgi hai kisi ke liye …
खोडाना,मन्दसौर,मध्य प्रदेश से कन्हैयालाल शर्मा जी ने लिखा है ईरान बहुत ही साहसी देश है। ईरान अमरिका की गीदड धमकीयों से नही डरता। ईरान मानवता के खिलाफ नही है। हम …
बरगाह,उडिशा से राजिन्द्र बरिहा का यह पत्र है लिखते हैं कई दिनों के बाद पत्र लिख रहा हूं अतः क्षमा चाहता हूं। हिन्दी की ज्ञान प्रवाह में अपने आपको डुबाने …
सियोन रेडियो लिस्नर्स क्लब के अध्यक्ष राम बिलास प्रसाद का यह पत्र है कृतपुर,पुर्वी चम्पारण बिहार से लिखते हैं  मैं आपके कार्यक्रमों को प्रतिदिन सुनता हूं। देश विदेश की ताजा …
पारसनाथ कुशवाहा का यह पत्र है मोहाली पंजाब से लिखते हैं हम रेडियो तेहरान की हिन्दी सेवा से प्रसारित कार्यक्रमों सुनते हैं। इस में हमें समाचार,सामयिक चर्चा काफी पसंद आती …
 भूड़ बरेली उत्तर प्रदेश से रजत कुमार का यह पत्र है यह क्रान्तिकारी छात्र परिषद लिस्नर्स क्लब से है। इन्होंने लिखा है आज विश्व की आबादी भले ही दस अरब …
शेख मोहम्मद मुबारक अली का यह पत्र है गोवर्धन मिर्जापूर उत्तर प्रदेश से लिखते हैं हम आपके नियमित और पुराने श्रोता हैं और रोज़ाना कार्यक्रमों को ध्यान से सुनते हैं …
गडहिया, शिवहर,बिहार से डा. मोहम्मद आज़म ने लिखा है जख्म़े ज़बान तीजथर अज़ ज़ख़्म शमशीर अस्त, यानी ज़ुबान का ज़ख्म शमशीर के ज़ख़्म से भी गहरा होता है। कल ही …