यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
सोमवार, 16 जून 2014 14:50

इराक़ में पश्चिम का प्रचारिक युद्ध

इराक़ में पश्चिम का प्रचारिक युद्ध

फ़ारेन पालेसी पत्रिका ने इराक़ की स्थिति के बारे में अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि दाइश नामक आतंकवादी गुट क्षेत्र में ईरान के प्रभाव को कम करने का प्रयास कर रहा है। इस पत्रिका के दावे के अनुसार इराक़ में होने वाली झड़पें, इन विचारों के कारण जिनका परिणाम अशांति के रूप में निकला है।

इसी के साथ राइटर्ज़ समाचार एजेंसी ने दावा किया है कि ईरानी सेना पवित्र नगर कर्बला और नजफ़ में पहुंच गई हैं जबकि ईरान और इराक़ दोनों ने इस दावे का कड़ाई से खंडन किया है। अब सवाल यह है कि पश्चिमी मीडिया की ओर से इस प्रकार के समाचार और रिपोर्टें पेश किए जाने का उद्देश्य क्या है? और इराक संकट को ईरान और सऊदी अरब के टकराव का परिणाम क्यों कहा जा रहा है? इस संबंध में कुछ बातें हैं जिन पर ध्यान देना चाहिए।

सबसे पहले तो यह कि शीया, सुन्नी, कुर्दी और क़बाईली सहित समस्त गठबंधनों ने आतंकवादियों को ज़बरदस्त पराजय का स्वाद चखाकर पश्चिम के इन दावों को निराधार सिद्ध कर दिया है कि इराक़ी जनता अराजकता का शिकार है। यह गठबंधन क्षेत्र के उन देशों के लिए भी आदर्श बन सकता है जो पश्चिम समर्थित आतंकवाद से मुकाबला कर रहे हैं।

पश्चिमी मीडिया, इराक़ में ईरान और सऊदी अरब के बीच टकराव की निराधार अफवाहें फैलाकर, इराक़ी जनता की एकता को छिपाना चाहता है और दूसरी ओर अमरीका और ब्रिटेन की ओर से आतंकवादियों के समर्थन पर पर्दा भी डालने का प्रयास कर रहा है।

दूसरी बात यह है कि पश्चिम ने सदैव इस बात का प्रयास किया कि शीया और सुन्नियों के बीच फूट डालकर अपने हितों को प्राप्त करता रहे। इस समय पूरा इलाका इस बात को समझ गया है कि आतंकवाद सभी के लिए ख़तरा है और इससे मुकाबले के लिए एकजुट हो जाना चाहिए।

इन परिस्थितियों में पश्चिमी मीडिया, ईरान और सऊदी अरब के बीच टकराव की बात कर इराक़ में आतंकवादियों और जनता के टकराव को शीया और सुन्नी टकराव दिखाने की चेष्टा में है। तथ्य यह है कि पश्चिम इस बात से परेशान है कि अगर क्षेत्रीय देश आतंकवाद के विरुद्ध एकजुट हो गए तो क्षेत्र में उनके ग़लत हित ख़तरे में पड़ जाएंगे।

*रख़शिंदा*

( नोटः लेखक के विचारों से रेडियो तेहरान हिंदी सेवा का सहमत होना आवश्यक नहीं है)

 

Add comment


Security code
Refresh