यह वेबसाइट बंद हो गई है। हमारी नई वेबसाइट हैः Parstoday Hindi
सोमवार, 20 अप्रैल 2015 10:03

ईरान में आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण फ़िल्मी समारोह

ईरान में आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण फ़िल्मी समारोह

दुनिया भर में फ़िल्मी समारोहों के आयोजन से फ़िल्मों की समीक्षा का अवसर प्राप्त होता है। इन आयोजनों से एक प्रकार की प्रतिस्पर्धा के लिए भूमि प्रशस्त होती है जिससे सिनेमा के मैदान में सक्रिय लोगों की प्रतिभाएं खुलकर सामने आती हैं।

 

 

अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में फ़िल्मी हस्तियों और दर्शकों की काफ़ी दिलचस्पी होती है। वे नई नई रचनाएं देखना पसंद करते हैं और उनकी आपस में तुलना करते हैं। वेनिस फ़िल्म फ़ेस्टिवल दुनिया का सबसे पुराना फ़िल्मी समारोह है। पहली बार इसका आयोजन 1932 में इटली के वेनिस शहर में हुआ। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इसका आयोजन नहीं हो सका था लेकिन सत्तर वर्षों के आयोजन के बाद अब यह दुनिया का महत्वपूर्ण समारोह माना जाता है।

ईरान में सिनेमा का पुराना इतिहास है, इसीलिए फ़िल्मी समारोहों के आयोजन का भी इतिहास पुराना है। ईरानी सिनेमा का इतिहास नामक किताब में उल्लेख है कि ईरान में पहला फ़िल्म फ़ेस्टिवल 1950 में तेहरान में आयोजित हुआ, लेकिन इसमें केवल इंग्लिश फ़िल्मों की ही समीक्षा की गई थी। उसके तीस वर्षों बाद तक छोटे बड़े आयोजन होते रहे, जिनमें दुनिया की चुनिंदा रचनाओं को दिखाया जाता था और ईरानी जनता को दुनिया की नई फ़िल्मों से अवगत कराया जाता था।

अंततः 1963 में तेहरान में पहला अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल आयोजित हुआ। शुरूआती वर्षों में ही इसका बड़े पैमाने पर स्वागत हुआ और दुनिया के 23 देशों ने इसमें भाग लिया। इस समारोह में प्रतिस्पर्धा थी और इसमें विभिन्न विषयों में बेहतरीन रचनाओं का चयन किया गया।

 

 

इस समारोह के अलावा, युवा और बच्चों की फ़िल्मों का फ़ेस्टिवल, तेहरान अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल, एशिया रेडियो एवं टीवी संघ का फ़िल्म फ़ेस्टिवल और युवा सिनेमा फ़िल्म फ़ेस्टिवल ईरान में आयोजित होने वाले महत्वपूर्ण फ़िल्म फ़ेस्टिवल हैं। इन समारोहों के आयोजकों की रूची ने ईरानी सिनेमा पर काफ़ी प्रभाव डाला लेकिन ईरानी रचनाओं की उपेक्षा के कारण इन्हें तीखी प्रतिक्रियाओं का सामना करना पड़ा। आलोचक समारोहों के आयोजन के विरोधी नहीं थे लेकिन कुछ अनुचित ईरानी एवं विदेशी फ़िल्मों के चयन से नाराज़ थे। 1979 में इस्लामी क्रांति की सफ़लता के बाद ईरान में समाज, संस्कृति और कला के मैदान में एक बड़ा परिवर्तन हुआ, और यह कहा जा सकता है कि सबसे अधिक बदलाव सिनेमा में आया और क्रांति के बाद इसमें काफ़ी प्रगति हुई। क्रांति के बाद फ़िल्मी समारोहों के आयोजन की ओर गंभीरता से ध्यान दिया गया और सरकार ने इस संबंध में काफ़ी अच्छी योजनाओं पर काम किया।

ईरान की इस्लामी क्रांति की सफ़लता की वर्षगांठ के दिनों में ईरान का सबसे महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल फ़ज्र आयोजित किया जाता है। अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल फ़ज्र पहली बार फ़रवरी 1982 को तेहरान में आयोजित हुआ और उसके बाद से इसके 31 चरण आयोजित हो चुके हैं। इस समारोह के आयोजक फ़ाराबी सिनेमा संस्था और ईरान का संस्कृति मंत्रालय हैं। 1995 तक इसमें केवल ईरानी फ़िल्मों को ही प्रवेश दिया जाता था। लेकिन उसके बाद से उसे अंतरराष्ट्रीय कर दिया गया और इसमें विदेशी फ़िल्मों को भी शामिल किया जाने लगा।  

इस समारोह के प्रतिस्पर्धा भाग में बिल्लोरी सीमूर्ग़ पुरस्कार दिया जाता है। सीमूर्ग़ फ़ार्सी साहित्य में एक काल्पनिक पक्षी का नाम है जो सफ़लता और शिखर पर पहुंचने का प्रतीक है। दीप्लूम इफ़्तख़ार और लौहे ज़र्रीन इस समारोह के अन्य पुरस्कार हैं जो विभिन्न विषयों में जैसे कि निर्देशन, स्क्रिप्ट राइटिंग, ग्रीम एवं मेकअप, संगीत, साउंड रिकार्डिंग और अभिनय में दिया जाता है।

 

 

अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल फ़ज्र में विदेशी फ़िल्मों पर विशेष ध्यान दिया जाता है और उनकी तुलना ईरानी फ़िल्मों से की जाती है। विदेशी फ़िल्मों के चयनकर्ताओं द्वारा विशेष ध्यान दिए जाने के कारण बहुत ही चुनिंदा फ़िल्मों का चयन किया जाता है और उन्हें प्रदर्शित किया जाता है। नैम देशों और एशियाई देशों की फ़िल्मों तथा न्याय एवं अन्याय के ख़िलाफ़ प्रतिरोध पर विशेष ध्यान से इस समारोह द्वारा मानवीय मूल्यों को महत्व दिए जाने का पता चलता है।

दूसरा महत्वपूर्ण फ़िल्म समारोह अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल रुश्द है। प्रतिवर्ष ईरानी शिक्षा मंत्रालय इसका आयोजन करता है। इसमें ज्ञान एवं शिक्षा के विषय पर बनने वाली फ़िल्मों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

पहली बार यह समारोह क्रांति के बाद 1985 में आयोजित हुआ और उसके बाद प्रतिवर्ष ईरान भर के सिनेमा घरों और थिएटरों में आयोजित किया जाता है।

 

 

अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल रुश्द में दिलचस्पी लेने वाले मुख्य रूप से अभिभावक, अध्यापक और इसी प्रकार जवान और बच्चे होते हैं। इस समारोह में फ़ीचर फ़िल्मों, डॉक्यूमैंट्रीज़ और एनिमेशन फ़िल्मों को शामिल किया जाता है। अभी तक 43 बार यह समारोह आयोजित हो चुका है और इसकी विशेषता यह है कि इसमें शिक्षा-दीक्षा के विषय पर बनने वाली विश्व भर की फ़िल्मों को शामिल किया जाता है।

हर देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों और जवानों की भूमिका अहम होती है। ईरान में क्रांति के बाद बच्चों और युवाओं पर विशेष ध्यान दिया गया और इस विषय में विश्व प्रसिद्ध फ़िल्मों का निर्माण किया गया। यही कारण है कि 1982 में सिनेमा उद्योग के कर्ताधर्ताओं ने बच्चों की फ़िल्मों से विशेष फ़िल्म समारोह आयोजित करने का निर्णय लिया।

 

 

इस फ़िल्म समारोह का पहला आयोजन फ़ज्र फ़िल्म समारोह के साथ हुआ, लेकिन धीरे धीरे इसे स्वतंत्र रूप से आयोजित किया जाने लगा। अब इसका नाम इस्फ़हान बाल अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह है। इसलिए कि गत 27 वर्षों में ज़्यादातर इसका आयोजन इसी शहर में हुआ है। इस समारोह में दुनिया भर में बच्चों और युवाओं पर बनने वाली फ़िल्मों को शामिल किया जाता है। इस समारोह में जो पुरस्कार दिया जाता है उसका नाम परवाने ज़र्रीन है।

इन अंतरराष्ट्रीय एवं महत्वपूर्ण समारोहों के अलावा भी ईरान में अन्य फ़िल्म समारोहों का आयोजन किया जाता है। यह समारोह भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होते हैं।

लेकिन ऐसा नहीं है कि ईरान में सरकार की सहायता और सरकारी संस्थाओं द्वारा आयोजित होने वाले फ़िल्म समारोहों के अलावा निजी क्षेत्र इसमें सक्रिय नहीं है। ईरान में फ़िल्मी क्षेत्र में सक्रिय लोग इसके अलावा भी अन्य कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं। सिनेमा के क्षेत्र में कुछ विशेष समारोह भी आयोजित किए जाते हैं और उनमें विशेषज्ञों द्वारा चयन की गई रचनाओं को पुरस्कृत किया जाता है। इसी प्रकार सिनेमा के क्षेत्र में सक्रिय पत्रकार और आलोचक भी स्वाधीन रूप से समारोह का आयोजन करते हैं।

 

 

कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि ईरानी सिनेमा में विभिन्न वर्ग एवं शैलियां मोजूद हैं। ईरान में आयोजित होने वाले फ़िल्म समारोहों में विशेषज्ञ ईरानी फ़िल्मों की विदेशी फ़िल्मों के साथ तुलना करते हैं और उसके बाद उनके बारे में कोई निर्णय लेते हैं। इसी कारण ईरानी सिनेमा का आज दुनिया में एक स्थान है और वह काफ़ी हद तक अपने देश की संस्कृति को पेश करने में सफल रहा है।  SM     

  फेसबुक पर हमें लाइक करें, क्लिक करें 

 

Media

Add comment


Security code
Refresh